• साक्षी और अजितेश ने 4 जुलाई को प्रयागराज के एक मंदिर में शादी करने की बात कही है
  • साक्षी के पिता भाजपा विधायक हैं, उसने एक वीडियो जारी कर पिता से जान का खतरा बताया था

 

प्रयागराज. भाजपा विधायक की बेटी साक्षी के पति अजितेश के साथ हाईकोर्ट परिसर में कुछ लोगों ने मारपीट की। सोमवार को पुलिस सुरक्षा में साक्षी-अजितेश हाईकोर्ट पहुंचे थे। दोनों ने 5 जुलाई को सुरक्षा की मांग को लेकर याचिका दाखिल की थी, जिस पर आज सुनवाई होनी थी।

अजितेश ने आरोप लगाया कि कोर्ट नंबर दो में सुनवाई होनी थी। इसके पहले कुछ वकीलों ने मारपीट की। इस दौरान साक्षी से भी धक्कामुक्की की गई। परिसर में मारपीट को लेकर हाईकोर्ट ने कड़ा रुख अपनाया है। मामले में कोर्ट ने संज्ञान लेते हुए साक्षी के पिता को फटकार लगाई है।

जिला प्रशासन को किया तलब

हाईकोर्ट ने अजितेश के साथ मारपीट पर जिला प्रशासन को तलब करते हुए पुलिस को साक्षी और अजितेश को सुरक्षा देने के निर्देश दिए हैं। अजितेश के वकील का कहना है कि अजितेश को पीटने वाले लोग कौन थे, यह स्पष्ट नहीं है। लेकिन यह साबित करता है कि वास्तव में उनके जीवन को खतरा है, इसलिए वे सुरक्षा की मांग कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि भाजपा विधायक और साक्षी के पिता राजेश मिश्रा भी कोर्ट पहुंचे थे।

यह है पूरा मामला

बरेली से भाजपा विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी ने अजितेश से 4 जुलाई को प्रयागराज के एक मंदिर में शादी की थी। यह मामला तब सुर्खियों में आया, जब साक्षी ने एक वीडियो जारी कर आरोप लगाया कि उसके पिता से उन दोनों को जान का खतरा है। हाईकोर्ट में दायर याचिका में भी कहा गया कि शादी से साक्षी के पिता नाखुश हैं, क्योंकि साक्षी एक ब्राह्मण है, जबकि अजितेश दलित। साक्षी के पिता से उनकी जान को खतरा है।

पुलिस लेकर पहुंची थी प्रयागराज
रविवार को साक्षी और अजितेश को ढूंढते-ढूंढते बरेली पुलिस दिल्ली पहुंची। यहां से दोनों को सुरक्षा घेरे में सोमवार को इलाहाबाद लाया गया। उधर, मीडिया में सुर्खियां बनने के बाद साक्षी के पिता राजेश मिश्रा ने कहा था कि मुझे शादी से कोई दिक्कत नहीं है। वे (साक्षी) बालिग हैं और फैसला ले सकती हैं।

हिंदी समाचार के लिए आप हमे फेसबुक पर भी ज्वाइन कर सकते है